| |

एनीमिया क्या है, एनीमिया के लक्षण, कारण और बचाव ! Anaemia in Hindi

 

एनीमिया क्या होता है:- What is anemia: –


     एनीमिया तब होता है जब रक्त में पर्याप्त स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाएं या हीमोग्लोबिन नहीं होता है। हीमोग्लोबिन रक्त की कोशिकाओं के लिए ऑक्सीजन जरूरी करने के लिए होता है ।यदि आपके पास कम लाल रक्त कोशिकाएं हैं । तो हीमोग्लोबिन कम ऑक्सीजन जब शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिलता है। महिलाओं बच्चों और लंबे समय से चल रही बीमारियों से पीड़ित लोगों को एनीमिया आसानी से हो जाता है।  भारत में एनीमिया के हर साल एक करोड़ मामले सामने आते हैं। एनीमिया के लक्षण जैसे थकान तब महसूस होते हैं । जब शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिलती।


खून की कमी (एनीमिया) के प्रकार:- Types of blood deficiency (anemia): –


1-आयरन की कमी के कारण एनीमिया हो जाता है जो आमतौर पर तब होता है । जब बहुत समय से मानसिक धर्म के कारण खून की अत्यधिक कमी हो रही होती है । बच्चों में बचपन और किशोरावस्था में विकास के लिए आयरन की ज्यादा जरूरत के कारण भी आयरन की कमी के कारण एनीमिया हो सकता है।

2-अप्लास्टिक एनीमिया एक विकार है जिस कारण शरीर की हड्डियों की मजा पर्याप्त रक्त कोशिकाएं नहीं बना पाता है। जिसके कारण स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं जैसे हृदय के प्रकार, में आकार में वृद्धि, संक्रमण और रक्त स्राव हो सकता है । यह अचानक या धीरे-धीरे विकसित होता है और समय के साथ-साथ गंभीर हो जाता है।  जब तक कि इलाज नहीं किया जाता है।

3-हेमॉलिटिक एनेमिया यह तब होता है । जब सामान्य जीवन काल के समाप्त होने से पहले ही लाल रक्त कोशिकाएं नष्ट हो जाती हैं । कई बीमारियों के कारण शरीर लाल रक्त कोशिकाओं को नष्ट कर सकता है । हेमॉलिटिक एनीमिया से कई गंभीर स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं जैसे थकान, दर्द, हृदय के आकार में वृद्धि, दिल की विफलता हो सकती है।


और पढ़ें – sinusitis – साइनस👈

खून की कमी (एनीमिया) के 

कारण: Causes of blood loss (anemia):

1-दोषपूर्ण लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन के कारण एनीमिया-

       इस प्रकार के एनीमिया में रक्त कोशिकाओं का उत्पादन कम होता है। विटामिन और खनिज की कमी और सामान्य लाल रक्त कोशिकाओं के कारण लाल रक्त कोशिकाएं दोषपूर्ण होती है । इस स्थिति से संबंधित एनीमिया इस प्रकार है जैसे सिकल सेल एनीमिया , आयरन की कमी के कारण एनीमिया , विटामिन की कमी के कारण , हड्डियों की मजा और स्टेम सेल की समस्याएं अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के कारण।

2-हड्डियों की मज्जा और स्टेम सेल की समस्याए:-  

     हड्डियों की मजा और स्टेम सेल की समस्याओं के कारण शरीर पर्याप्त लाल कोशिकाओं का उत्पादन नहीं कर पाता है। ऐसी स्थिति में हड्डियों की मज्जा में पाए जाने वाले कुछ स्टेम सेल लाल रक्त कोशिकाओं में परिवर्तित हो जाते हैं । हड्डियों की मज्जा मैं समस्याओं के कारण होने वाली समस्याएं या बीमारी इस प्रकार से हैं:-अप्लास्टिक एनीमिया, थैलेसीमिअ, लेड के कारण हड्डियों की मज्जा में भी सकता।

3-हार्मोन की कमी के कारण लाल रक्त कोशिकाएं का कम उत्पादन:-

      इस समस्या के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं जैसे:-गुर्दे की बीमारी, लंबे समय से चल रही बीमारियां जैसे कैंसर , संक्रमण , लुपस, मधुमेह और बुढ़ापा।

लाल रक्त कोशिकाओं के नष्ट होने से निम्नलिखित एनीमिया हो सकते हैं:-जब लाल रक्त कोशिकाएं कमजोर होती हैं । तब वह परिसंचरण प्रणाली का दबाव नहीं होता है। इस कारण वह हमेशा के लिए क्षतिग्रस्त हो सकती हैं । इसमें से हेमॉलिटिक एनेमिया हो सकता है । इस एनीमिया होने का कोई कारण नहीं होता इसे निम्न प्रकार से देखा जा जा जा सकता है। जैसे अनुवांशिक बीमारियां , संक्रमण, सांप या मकड़ी के जेवर और कुछ खाद्य पदार्थों से लीवर और गुर्दे की बीमारी के कारण । कुछ दुर्लभ स्थितियों में बढ़ा हुआ स्पेलिंग लाल रक्त कोशिकाओं को रोककर उन्हें नष्ट कर देता है।


और पढ़ें – depression – अवसाद👈


खून की कमी (एनीमिया) के लक्षण- Symptoms of anemia


    एनीमिया के कुछ सामान्य लक्षण इस प्रकार से हैं जैसे थकान , कमजोरी , त्वचा का पीला होना , सांस लेने में तकलीफ होना, दिल की धड़कन का असामान्य होना, चक्कर आना, सीने में दर्द उठना, हाथों और पैरों का ठंडा होना , सीने में दर्द, शुरुआत में एनीमिया के लक्षण नजरअंदाज हो सकते हैं। लेकिन जैसे-जैसे एनीमिया गंभीर होने लगता है ।उसके लक्षण और भी गंभीर हो जाते हैं।

एनीमिया के बारे में कुछ महत्वपूर्ण कारक इस प्रकार से हैं:-


1-गर्भधारण करने की उम्र में महिलाओं को मानसिक धर्म के कारण रक्त की कमी और शरीर द्वारा ज्यादा रक्त की जरूरत के कारण आसानी से एनीमिया हो सकता है।

2-अनुचित आहार और अन्य चिकित्सा समस्याओं के कारण भी लोगों को एनीमिया हो सकता है।

3-एनीमिया के कुछ प्रकार अनुवांशिक होते हैं और कुछ लोगों को एनीमिया बचपन से होता है।


और पढ़ें – fistula – भगंदर👈


खून की कमी (एनीमिया) से बचाव: Prevention of anemia :


    एनीमिया के कुछ प्रकारों जैसे सिकल सेल एनीमिया से बचा नहीं जा सकता है। खून की कमी के कारण होने वाले एनीमिया से बचना भी मुश्किल है क्योंकि दुर्घटनाएं और छोटे अप्रत्याशित हैं।यदि आप किसी ऐसी स्थिति में हो जब आप अधिक खून बह रहा हो तो जब तक आपको कोई चिकित्सक मदद ना मिले तब तक आपको अपने रक्त को रोकने या कम करने की कोशिश करें।

1-आयरन में युक्त और स्वस्थ आहार का सेवन करें।

2-चाय और कॉफी का सेवन कम करें क्योंकि इन्हें कारण आपके शरीर को आयरन का अवशोषण करने में परेशानी हो सकती हैं।


YouTube channel 👈


Leave a Reply

Your email address will not be published.